Latest Update Trending News

Free DAP Uriya : किसानों को फ्री में मिलेगा Urea DAP और पोटाश खाद्य, ऐसे करें आवेदन

Free DAP Uriya : किसानों को फ्री में मिलेगा Urea DAP और पोटाश खाद्य, ऐसे करें आवेदन

Free Food Yojana 2022 : देश में बहुत से ऐसे लोग हैं जो खेती करके यानी की फसल की पैदावार करके अपना जीवन यापन करते हैं और ऐसे में उन्हें सबसे बड़ा ए प्रॉब्लम होता है कि उन्हें खाद्य लेना काफी ज्यादा मुश्किल पड़ जाता है जिससे किसानों को खेती में अच्छी पैदावार नहीं होती है और वह किसान धीरे-धीरे टूटने लगते हैं तो उन सभी किसानों के लिए यह आर्टिकल है क्योंकि यह आर्टिकल में बतलाया गया है कि किसान भाई को किसी भी तरह के खाद लेने पर लगभग 80% की सरकार के द्वारा सब्सिडी दी जाएगी यानी बोला जाए तो बिल्कुल फ्री में दिया जाएगा इस योजना का लाभ कैसे उठाना है इसके बारे में इस आर्टिकल में पूरी प्रक्रिया विस्तार रूप से बतलाई गई है इसलिए यह आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें तभी देश के सभी किसानों को इस योजना का लाभ मिलेगा।

हरि खाद्य वाली कौन सी है फसलें?

सभी किसानों को यह मालूम होगा कि हरि खाद्य के लिए दलहनी फसलें में सनई, लोबिया, उड़द, मूंग, गवार, ढैंचा आदि पशुओं का उपयोग किया जा सकता है इस फसलो मैं कम समय में शीघ्र बढ़वार यानी कि अधिक फसलें होती है इनकी पत्तियां तुम बड़े वजनदार एवं बहुत संख्या में रहती है एवं इनकी उर्वरा तथा जल की आवश्यकता भी कम होती है जिसमें कम लागत में अधिक के कार्बनिक पदार्थ प्राप्त हो जाता है दलहन फसलों में जड़ों में नाइट्रोजन को 72 रन से मृदा में स्थित करने वाले जीवाणु पाए जाते हैं जो भूमि के लिए लाभदायक होते हैं और ढेंचा की खेती के लिए राज्य सरकार को मिलेगी 80 परसेंट की सब्सिडी

कितना पर्सेंट की सब्सिडी मिलेगा ?

केंद्र सरकार की ओर से इस साल किसानों को 80 परसेंट तक की सब्सिडी दी जाएगी ढैंचा के लिए 60 किलो खाद्य दी जाएगी इस पर अधिकतम 48 रुपए की सब्सिडी सरकार के द्वारा एवं से शीशा जो ₹12 है जो किसानों को देना होगा अर्थात अर्थात बोला जाए तो किसान भाई किसी भी खाद की अगर जो खरीदारी करते हैं तो उन्हें 80 परसेंट है तक की सब्सिडी दी जाएगी जब किसान अपने नजदीकी ब्लॉक किया कार्यालय में जाकर खाद्य की खरीदारी करते हैं तो छूट दिया जाएगा।

राज्य सरकार की योजना और इसका कैसे मिलेगा लाभ ?

दरअसल आपको बता दें कि खेती करने के लिए रासायनिक खाद्य और उर्वरकों में लगातार प्रयोगो से भूमि की उर्वरा शक्ति कम होती जा रही है आज देश में काफी भूमि बंजर हो चुकी है और ऐसे में भूमि में फसल उगाना काफी ज्यादा कठिनाइयां होती जा रही है बिहार में कई किसानों की भूमि पढ़ती हो चुकी है ऐसे हालात में आज भूमि में फसल उगाना काफी ज्यादा मुश्किल पड़ रहा है अब बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को जैविक खेती की तकनीक को अपनाने पर जोर दिया था और इसके लाभ भी बताए थे इसके बाद राज्य सरकारें भी जैविक खेती के लिए किसानों को प्रोत्साहित कर रही थी इसी क्रम में हरियाणा सरकार की और से राज्य में हरी खाद दें को बढ़ावा देने के लिए सरकार की ओर से सभी किसानों को 80 परसेंट तक की सभी खाद्य पर सब्सिडी दी जा रही है।

किसानों को प्रति एक बड़ा कितना खाद्य दिया जाएगा?

केंद्र सरकार की ओर से इस सीजन में किसानों को खाद्य देने के लिए घोषणा किया गया है 35 क्विंटल खाद्य उपलब्ध कराया जाएगा या खाद्य प्रति एकड़ 12 किलोग्राम के हिसाब से किसान को दिया जाएगा इस योजना के तहत एक किसान को लगभग 120 किलोग्राम खाद्य दिया जाएगा यदि एक किसान 10 एकड़ का खाद्य अनुदान प्राप्त कर सकता है।

अनुदान पर खाद लेने के लिए कहां करें आवेदन?

देश के किसानों को इस योजना खाद्य को प्राप्त करने के लिए फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा किसान अनुदान पर बीज लेने के लिए समय दिया गया है और इस समय की अवधि में सभी किसान खाद्य के लिए आवेदन कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन करने के लिए किसानों के पास आधार कार्ड है वोटर कार्ड किसान क्रेडिट कार्ड में की फोटो कॉपी अपने नजदीकी कार्यालय में जाकर जमा करना होगा। इसके बाद सभी किसानों को केंद्र सरकार की ओर से खाद्य उन्हें प्रदान किया जाएगा।

इस योजना से जुड़ी जानकारी पाने के लिए संपर्क करें

किसान इस योजना से संबंधित है और भी जानकारी पाने के लिए किसान अपने क्षेत्र से संबंधित उपमंडल कृषि एवं किसान कल्याण कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं इसके अलावा आप टोल फ्री नंबर 1800-180-2117 पर संपर्क करके इनके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

किसान योजना से जुड़ी हर खबर जानने के लिए संपर्क करे