शादी के बाद दुल्हन पर थूक कर दिया जाता है आशीर्वाद, मुंडवाया जाता है सिर

 शादी के बाद दुल्हन पर थूक कर दिया जाता है आशीर्वाद, मुंडवाया जाता है सिर

इस दुनिया में अजीब गजब का नियम बना हुआ है यहां शादी के बाद दुल्हन को बुक कर दिया जाता है आशीर्वाद है आज तक आपने कही अजीब गरीब शादी की परंपराओं के बारे में सुना होगा और देखा भी होगा लेकिन आज हम जो आपको बताने जा रहे हैं उससे जानकर आप चौक जाएंगे क्योंकि यहां पर दुल्हन को आशीर्वाद देने का तरीका कुछ अलग हैवर वधु का भावी जीवन सुखी और प्रेम हो इसके लिए बड़े बुजुर्गों का विवाह होने पर उन्हें आशीर्वाद देते हैं क्योंकि कन्या में एक ऐसी जनजाति है जो शादी के बाद दुल्हन को अनोखे तरीके से आशीर्वाद देती है। उस पर थूकने से दुल्हन को आशीर्वाद मिलता है सुनने में भले ही यह अजीब लगे लेकिन पिता अपनी बेटी की विदाई के वक्त उसके शरीर पर कुक्कर आशीर्वाद देते हैं यह जानिए इस परंपरा अजीब है।

थूक कर पीता बेटी को आशीर्वाद देता है

दरअसल, मसाई केन्या और तंजानिया की एक आदिवासी जनजाति है। विदाई के समय दुल्हन के पिता अपनी बेटी के सिर और छाती पर थूक कर आशीर्वाद देते हैं।यहां सदियों से प्यार का इजहार करने के तरीके के तौर पर इस परंपरा का पालन किया जाता रहा है। जब एक पिता थूकता है तो उसकी बेटी भी इसे वरदान मानती है।

दहेज देने के बाद मुंडवा या जाता है सिर

इस जनजाति में जब बेटी की शादी हो जाती है और लड़के के परिवार वालों को दहेज दिया जाता है तो दुल्हन का सिर भी मुंडवा दिया जाता है। दुल्हन अपने पिता के सामने घुटने टेकती है और घर के सभी बड़ों का आशीर्वाद लेती है। इस प्रक्रिया के दौरान घर के बुजुर्ग दुल्हन के सिर और छाती पर थूकते हैं। यह दुल्हन के लिए शुभ माना जाता है। नवविवाहित दुल्हन के अलावा, नवजात बच्चों को भी इस प्रथा के अधीन किया जाता है।

इसके पीछे की वजह क्या है?

मसाई समुदाय थूकने को सम्मान मानता है इसी तरह हुआ मेहमानों की हाथ की हथेली पर तू कर उनका स्वागत करता है यानी कि वेलकम करता है साथ ही शादी के दौरान लड़की के यानी दुल्हन के सिर और ब्रेस्ट पर रुकने के बाद जब दुल्हन अपने ससुराल जाती है तो वह पीछे मुड़कर नहीं देख सकती वरना कहा जाता है कि दुल्हन पत्थर बन जाती है।

Telegram Join  Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published.