Ration Card : राशन कार्ड धारकों के लिए बुरी खबर, लिस्ट से काट जाएगा आपका नाम

Ration Card : राशन कार्ड धारकों के लिए बुरी खबर, लिस्ट से काट जाएगा आपका नाम

Ration Card New Update : उत्तर प्रदेश में पिछले दिन राशन कार्ड धारको के कार्ड सरेंडर करने की खबर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई इस खबर में यह वादा किया जा रहा है कि अपात्र राशन कार्ड धारको को तहसील पर जा कर राशन कार्ड सरेंडर करना है, वरना सरकार की तरफ से उनसे राशन की वसूली की जाएगी हालांकि बाद में सरकार की तरफ से इस पर स्पष्टीकरण देते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने ऐसा कोई भी नियम नहीं बनाया है जिससे राशन कार्ड धारकों के लिए कोई दिक्कत हो।

जरूरतमंदों को ही मिलेगी फ्री राशन का फायदा

उत्तर प्रदेश के सरकार की तरफ से प्रदेश में राशन कार्ड ओं का निस्तारण कार्यक्रम शुरू कर दी गई है उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से जारी आदेश के अनुसार अपात्र लोगों का राशन कार्ड लिस्ट में से उनका नाम काट दिया जाएगा और केवल उन्हीं व्यक्ति को खीरी राशन कार्ड दिया जाएगा जो जरूरतमंद है है, इसकी शुरुआत यूपी के अलग-अलग है जिला से हो चुकी है दरअसल साल 2011 की जनगणना के अनुसार सरकार का राशन कार्ड बनाने का लक्ष्य पूरा हो चुका है और ऐसे में नए राशन कार्ड नहीं बनाए जा सकते हैं।

2011 की जनगणना के अनुसार नाम जोड़े जा रहे हैं?

यदि अब कोई नए व्यक्ति राशन कार्ड के लिए आवेदन कर रहे हैं तो जांच में अपात्र पाए गए लोगों का राशन कार्ड निरस्त किए जा रहे हैं यानी कि उनका राशन कार्ड में से नाम हटा दिया जा रहा है निरस्त किए गए अपात्र लोगों के कार्ड के स्थापन पर ही नए जरूरतमंद पात्रों को राशन कार्ड योजना का फायदा दिया जा रहा है राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा में वर्ष 2011 जनगणना के आधार पर ही नाम जोड़े जा रहे हैं आपको जानकारी है बता दे कि शहर की आबादी 2011 की जनगणना के तुलना में 2022 में दुगनी से भी अधिक हो चुकी है।

 

करोना के कारण 2021 में नहीं हुई जनगणना

करोना तीन मामले बढ़ने पर वर्ष 2021 की जनगणना नहीं हो पाई थी, इस स्थिति में राष्ट्रीय खाद सुरक्षा के लिए जनसंख्या का अनुपात को बढ़ाना जरूरी हो गया है, इसी के आधार पर शहरी गरीबों को योजना का लाभ मिल सकेगा ऐसे में उत्तर प्रदेश के जिला पूर्ति कार्यालय और तहसील स्तर के पूर्ति कार्यालय में आने वाले नए राशन कार्ड के आवेदनों को जमा कर लिया गया है, इसके बाद जांच के आधार पर अपात्र के राशन कार्ड निरस्त कर उनकी जगह पात्रों के राशन कार्ड बनाते हैं।
इसके लिए पात्रों को महीनों इंतजार करना पड़ता है विभागीय सूत्रों का कहना है कि 2011 के लक्ष्य को अब जनसंख्या वृद्धि के आधार पर बढ़ाने की तैयारी चल रही है इसलिए अभी नए राशन कार्ड बनाने का काम रुका हुआ है यदि आप राशन कार्ड बनवाना चाहते हैं तो इसके लिए नीचे टेलीग्राम लिंक दिया गया है वहां से आप ज्वाइन कर ले ताकि जब भी राशन कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू की जाए तो सबसे पहले आप बना सकें।

Telegram Join  Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published.